Author Description

चाय पीने के फायदे और नुकसान ....?


हमारे देश में चाय बहुत पसंद की जाती है।ज़्यदातर लोगो की सुबह की शुरुआत चाय पीने से ही होती है।हमारे देश में चाय लोगो के लिए भोजन-पानी की तरह आवश्यक हो गई है। चाय पीने के फायदे और नुकसान दोनों है।


चाय पीने के फायदे:-

1. चाय के अंदर एंटीऑक्सिडेंट्स पाये जाते हैं , जो हमारे शरीर के जंग के संस्करण को रोकने के लिए काम करते हैं और इस तरह हमें युवा रखने और प्रदूषण के नुकसान से बचाने में मदद करते हैं। काली या हरी चाय के तुलना में सफ़ेद चाय के अंदर अधिक लाभकारी एंटीऑक्सिडेंट्स पाये जाते हैं।

2. चाय अलग-अलग प्रकार की होती है। जिसमे से हरी चाय ( ग्रीन टी ) का सेवन करने से हमारे शरीर की हार्ट अटैक और स्ट्रोक की समस्या का खतरा कम होता है।

3. ऐसा भी कहा गया है की हरी चाय ( ग्रीन टी ) के सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है जिस से वजन कम करने में मदद मिलती है।

4. हाल के पशु अध्ययनों के आंकड़ों से पता चला है कि हरी चाय हड्डियों के नुकसान को रोक सकती है। मोरिंगा, एक पौधा जो दक्षिण एशिया का मूल निवासी है, अपने औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है और अब जल्दी से मुख्यधारा का सुपरफूड बन रहा है। दूध से अधिक कैल्शियम के साथ-साथ लोहा, विटामिन ए और के, मोरिंगा चाय उन हड्डियों को मजबूत रखने में मदद करने के लिए एक बढ़िया अतिरिक्त है।

5. इस पर अध्ययन वर्तमान में मिश्रित हैं, जिसका अर्थ है कि अधिक शोध की आवश्यकता है, बोन्सी कहते हैं। लेकिन, इस बीच, "अगर आपको कैंसर का एक मजबूत पारिवारिक इतिहास मिला है और आप कुछ भी करना चाहते हैं, तो आप अपनी चाय की खपत बढ़ा सकते हैं," उसने कहा।

6. तुलसी चाय जिसका आयुर्वेदिक चिकित्सको द्वारा उपयोग सदियों से अपने जीवाणुरोधी, एंटी-फंगल, विरोधी बढकाऊ गुणों के लिए चोटों या बीमारियों के बाद हमारे इम्यून सिस्टम मजबूत रखने में मदद करने के लिए किया गया है।

7.चाय का सेवन करने से हमारे शरीर में पानी की मात्रा बनी रहती है जो की हमारे शरीर को निर्जलीकरण ( डिहाइड्रेशन ) होने से बचाती है।

8. अदरक, काली मिर्च, अजवाइन, इलायची वाली चाय पीने से सर्दी जुखाम दूर होता है।


चाय पीने के नुकसान:- 

1. चाय पीने के हानिकारक प्रभावों के बारे में बात करते समय, एक कारक जो दिमाग में आता है वह है इसमें मौजूद कैफीन की मात्रा। एक कप चाय में लगभग 14 - 60 मिलीग्राम कैफीन होता है। यह हमारे शरीर को प्रभावित करता है, इस प्रकार चिंता, बेचैनी और अनिद्रा की ओर जाता है। फिर, ऐसी समस्याओं पर अंकुश लगाने और चाय के इन दुष्प्रभावों को रोकने के लिए, चाय की खपत को सीमित करना चाहिए।

2. चाय पीने से हमारे  शरीर में पानी की मात्रा बनी रहती है लेकिन अधिक मात्रा में चाय पीने से निर्जलीकरण हो सकता है। बहुत अधिक चाय का मतलब है आपके शरीर द्वारा आवश्यक कैफीन की मात्रा का अधिक सेवन। इससे आपके भोजन में मौजूद आवश्यक पोषक तत्वों को अवशोषित करने के लिए आपके नलिकाओं की क्षमता कम हो सकती है। यह सब आपके शरीर को निर्जलित छोड़ सकता है और इसके परिणामस्वरूप आप कभी-कभी फूला हुआ और कब्ज महसूस कर सकते हैं।

3.ज़्यदातर लोग चीनी वाली ही चाय पीते है ,बार-बार चीनी वाली चाय का सेवन करने से शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ती है। जिस से शुगर होने का खतरा बढ़ता है, जो की एक जानलेवा बीमारी है।

4. अधिक चाय का सेवन दांतो में पीलापन लाता है, जो लोग अधिक चाय पीते है और वो चाय पीने के बाद ब्रश नहीं करते उनके दांतो में पीलापन हो जाता है।

5. यह चाय पीने का एक गंभीर दुष्प्रभाव है। यह साबित हो गया है कि जो लोग एक दिन में 6-7 कप से अधिक चाय पीते हैं, उन्हें प्रोस्टेट कैंसर होने का 50% अधिक खतरा होता है, बजाय उनके जो कम या कोई चाय नहीं पीते हैं। हालांकि, उम्र, तनाव, आहार आदि जैसे अन्य कारक भी ऐसी स्थिति में योगदान करते हैं।

6. जिन लोगो को सुबह उठते ही चाय पीने की आदत होती है और वो सिर्फ चाय का सेवन करते है बिना चाय के साथ कुछ खाये या भूखे पेट चाय का सेवन करते है उन्हें गैस की समस्या हो सकती है

7. क्यूंकि चाय में कैफीन की मात्रा अधिक होती है तो चाय पीने से नींद आने की समस्या भी होती है।एक कप चाय के अंदर 14-60 मिलीग्राम कैफीन होता है तो जो लोग 5-6 कप चाय या उस से भी अधिक चाय पीते है उन्हें नींद आने में बहुत समस्या होती है, जो की स्वस्थ के लिए बहुत हानिकारक है।

8. ज्यादा चाय पीने से पेशाब भी बार-बार आता है क्यूंकि ज्यादा चाय से हमारे शरीर में यूरिक एसिड बढ़ जाता है और इस वजय से हमारे शरीर के जरुरी मिनरल्स बाहर निकल जाते है।

9. चाय का अधिक सेवन भूख की समस्या को बढ़ाता है। अधिक चाय के सेवन से इंसान को भूख नहीं लगती जिस से हम उचित मात्रा में भोजन नहीं ले पाते जो की हमारे शरीर में कमजोरी लाता है।

10. अधिक चाय पीने से हमारे शरीर में स्केलेटन फ्लोरोसिस नाम की समस्या पैदा होती है जो हमारी हड्डीओं में कमजोरी लाती है। अधिक चाय का सेवन हड्डीओं के दर्द का कारण बन सकता है।

11. प्रेग्नेंट महिलाओ के लिए चाय का सेवन बहुत हानिकारक हो सकता है क्यूंकि इसमें कैफीन होता है जो गर्भाशय में भ्रूण के लिए हानिकारक होता है।



Post a Comment

0 Comments